बुधवार, 1 अगस्त 2012

हाईकू रचनाएँ !


रक्षा बंधन 
है भाई बहन का 
प्यारा बंधन !

थाल सजाये 
राह देखे बहना 
भाई न आया !

भाई को देख 
भर आये नयना 
स्नेह छलका !

तिलक माथे 
कलाई पर राखी
मन भावन !

भाई तुझ-सा 
हर जनम मिले 
कामना यही !

न हो विपदा 
भाई के जीवन में 
बहना सोचे !




11 टिप्‍पणियां:

sushmaa kumarri ने कहा…

भाई बहन के रिश्ते को बहुत खुबसूरत शब्दों में गढ़ा है अपने....

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

बहुत सुंदर

ANULATA RAJ NAIR ने कहा…

बहुत प्यारे हायकू.....प्यार भरे,,,
शुभकामनाये इस प्यारे पर्व की.
सादर
अनु

मेरा मन पंछी सा ने कहा…

सुन्दर हाइकु
शुभकामनाये :-)

मनोज कुमार ने कहा…

बहन तो बहन होती है, गुरु, गाइड और फिलॉसोफर!
बधाइयां, शुभकामनाएं।

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

बहुत सुंदर हाइकु

सदा ने कहा…

वाह ... बहुत ही अच्‍छी प्रस्‍तुति।

रश्मि प्रभा... ने कहा…

भाई बहन को जोड़ता पर्व , बहन की दुआएं , भाई का साथ - अनोखा है

कुमार राधारमण ने कहा…

थी बहन जो
याद आए बहुत
आज राखी में

Asha Joglekar ने कहा…

सुंदर हाइकू से सजी राखी ।

दिगम्बर नासवा ने कहा…

रक्षा बंधन को सार्थक करते हैं सभी हाइकू ...
इस दिन की मुबारक ...